Sunday, May 26, 2024
spot_img

पीएम श्री’ के लिए देशभर के लगभग 9 हजार स्कूल हुए शॉर्टलिस्ट

‘पीएम श्री’ के लिए देशभर के लगभग 9 हजार स्कूल हुए शॉर्टलिस्ट

JOIN

अब स्टूडेंट्स को मिलेंगी ये सुविधाएं


शिक्षा मंत्रालय ने अपनी प्रमुख योजना ‘प्रधानमंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया’ (PM SHRI) के लिए देश भर में लगभग नौ हजार स्कूलों को चुना है। इस संबंध में मंत्रालय ने बताया कि इन्हें केंद्रीय विद्यालयों और नवोदय विद्यालयों सहित दो लाख पचास हजार से अधिक सरकारी स्कूलों में से चुना गया है। इनकी चयन प्रक्रिया के लिए पाठ्यक्रम, पहुंच और बुनियादी ढांचा, मानव संसाधन और लैंगिक समानता सहित कुल छह व्यापक मापदंडों का आकलन किया गया था।

2.5 लाख से अधिक सरकारी स्कूलों में से हुआ इनका चयन

पीएम श्री का दर्जा पाने के लिए आवेदन के योग्य पाए गए केंद्रीय विद्यालयों और नवोदय विद्यालयों समेत कुल 2.5 लाख से अधिक सरकारी स्कूलों में से इन स्कूलों को चुना गया है। ऐसे में चुने गए इन स्कूलों के साथ-साथ यहां पढ़ने वाले छात्रों की किस्मत भी चमकने वाली है क्योंकि यह पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को कई सुविधाएं मिलने वाली हैं। आइए इनके बारे में जानते हैं…

14,500 स्कूलों को आधुनिक व बेहतर बनाने का है लक्ष्य

पीएम श्री केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित एक नई योजना है। इस योजना के तहत 14,500 स्कूलों को आधुनिक व बेहतर बनाया जाएगा। इसमें छात्रों को गुणवत्ता और नवाचार जैसे शिक्षा-प्राप्ति को बेहतर बनाने की योजना, समग्र प्रगति कार्ड, अभिनव शिक्षाशास्त्र, इनोवेटिव अध्यापन, बिना स्कूल बैग वाले दिन, स्थानीय कारीगरों के साथ इंटर्नशिप, क्षमता निर्माण आदि में मदद मिलेगी। वहीं आरटीई अधिनियम के तहत लाभार्थी उन्मुख पात्रता वाले शत-प्रतिशत पीएम श्री स्कूलों को विज्ञान और गणित के किट मिलेंगे। केवल इतना ही नहीं वार्षिक स्कूल अनुदान के रूप में समग्र स्कूल अनुदान, पुस्तकालय अनुदान, खेल अनुदान इत्यादि का लाभ प्राप्त होगा।

इसके अलावा बाल वाटिका और मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मकता सहित प्रारंभिक बचपन की देखभाल व शिक्षा सुनिश्चित की जा सकेगी। लड़कियों और सीडब्ल्यूएसएन के लिए सुरक्षित एवं उपयुक्त बुनियादी ढांचे के प्रावधान सहित समानता और समावेश पैदा करने में सहायता मिलेगी। छात्रों के लिए प्रस्तावित विषयों के चुनाव में लचीले रुख को प्रोत्साहित किया जा सकेगा। शिक्षकों और छात्रों के बीच भाषा की बाधाओं को पाटने में मदद मिलेगी। इसके लिए तकनीकी उपायों का उपयोग करते हुए मातृभाषा को शिक्षा के माध्यम के रूप में प्रोत्साहित किया जाएगा। डिजिटल शिक्षा शास्त्र का उपयोग करने के लिए आईसीटी, स्मार्ट क्लासरूम और डिजिटल लाइब्रेरी, पीएम श्री स्कूलों को शत-प्रतिशत आईसीटी, स्मार्ट क्लासरूम और डिजिटल पहल के तहत कवर किया जाएगा और मौजूदा अवसंरचना को मजबूत किया जाएगा।

क्या है पीएम श्री ?

‘पीएम श्री’ यानि प्रधानमंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया जो कि केंद्र सरकार की एक योजना है, जिसका उद्देश्य राज्य सरकारों की ओर से संचालित सरकारी विद्यालयों को अपग्रेड करके आदर्श विद्यालयों में तब्दील करना है। इन स्कूलों में छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के साथ उनको कौशल प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। देशभर के कुल 14,500 से अधिक स्कूलों को योजना के तहत विकसित किया जाएगा।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के सभी घटकों का करेंगे प्रदर्शन

पीएम श्री योजना की मदद से तैयार होने वाले ‘पीएम श्री स्कूल’ आगे चलकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के सभी घटकों का प्रदर्शन करेंगे, अनुकरणीय स्कूलों के रूप में कार्य करेंगे और अपने आसपास के अन्य स्कूलों को सहायता व मार्गदर्शन भी प्रदान करेंगे। ऐसे में पीएम श्री स्कूल छात्रों के संज्ञानात्मक विकास व गुणवत्तापूर्ण शिक्षण के लिए बेहद अहम साबित होने वाले हैं। ‘पीएम श्री स्कूल’  21 वीं सदी के महत्वपूर्ण कौशल से युक्त समग्र और पूर्ण-विकसित व्यक्तियों का निर्माण और उनका पोषण करने का प्रयास करेंगे।
पीएम श्री स्कूलों की योजना (पीएम स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया–उभरते भारत के लिए पीएम स्कूल) को केंद्र प्रायोजित योजना के रूप में लागू किया जा रहा है, जिसकी कुल परियोजना लागत 27,360 करोड़ रुपये है। कुल परियोजना लागत में वर्ष 2022-23 से 2026-27 तक पांच वर्षों की अवधि के लिए 18,128 करोड़ रुपये का केंद्रीय हिस्सा शामिल है।

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति