Wednesday, April 17, 2024
spot_img

हरितालिका तीज हर वर्ष भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है

हरितालिका तीज हर वर्ष भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है

JOIN

इस वर्ष हरितालिका का ब्रत 18 सितंबर 2023 सोमवार को मनाया जाएगा ज्योतिषाचार्य पं. नरेन्द्र कृष्ण शास्त्री के अनुसार हरितालिका तीज पर विशेष संजोग बन रहे है मान्यता है कि इस शुभ संयोग में व्रत और पूजन करने से सुहागिनों की मनोकामनाएं पूरी होती हैं, हरतालिका तीज पर भगवान शिव और माता पार्वती की विधि-विधान से पूजा की जाती है।
बेहद कठिन माना जाता है हरितालिका तीज व्रत:- ज्योतिषाचार्य पं. नरेन्द्र कृष्ण शास्त्री ने बताया कि इस दिन सुहागिनें पति की लंबी आयु और सुख-समृद्धि की कामना के लिए निराहार और निर्जला व्रत रखती हैं, हरतालिका तीज को हिंदू धर्म में सबसे कठिन व्रतों में से एक माना जाता है, मान्यता है कि यह व्रत अत्यंत शुभ फलदायी होता है, हरतालिका तीज को हरियाली और कजरी तीज के बाद मनाते हैं।
हरतालिका तीज महत्व:- आचार्य पं. नरेन्द्र कृष्ण शास्त्री ने बताया कि हरतालिका तीज व्रत करने से पति को लंबी आयु प्राप्त होती है, मान्यता है कि इस व्रत को करने से सुयोग्य वर की भी प्राप्ति होती है, संतान सुख भी इस व्रत के प्रभाव से मिलता है।
हरितालिका तीज पूजा विधि:-

  1. हरितालिका तीज में श्रीगणेश, भगवान शिव जी और माता पार्वती जी की पूजा की जाती है।
  2. सबसे पहले मिट्टी से तीनों की प्रतिमा बनाएं और भगवान गणेश जी को तिलक करके दूर्वा अर्पित करें।
  3. इसके बाद भगवान शिव जी को फूल, बेलपत्र और शमिपत्री अर्पित करें और माता पार्वती को श्रृंगार का सामान अर्पित करें।
  4. तीनों देवताओं को वस्त्र अर्पित करने के बाद हरितालिका तीज व्रत कथा सुनें या पढ़ें।
  5. इसके बाद श्रीगणेश जी की आरती करें और भगवान शिव जी और माता पार्वती की आरती उतारने के बाद भोग लगाएं…..!!
JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति