Wednesday, April 17, 2024
spot_img

सर्पदंश से घबराएं नहीं, विष रहित सर्पदंश से कुछ नहीं होता

सर्पदंश से घबराएं नहीं, विष रहित सर्पदंश से कुछ नहीं होता

JOIN
  • प्राणी उद्यान में मनाया गया विश्व सर्प दिवस

गोरखपुर। पूरा विश्व 16 जुलाई को विश्व सर्प दिवस के रूप में मनाता है। शहीद अशफाक उल्ला खां प्राणी उद्यान गोरखपुर में सर्प दिवस को मनाया गया।
प्राणी उद्यान के पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ योगेश प्रताप सिंह ने दर्शकों को पूर्वांचल में पाए जाने वाले सांपों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। डॉ योगेश ने बताया कि गोरखपुर और इसके आसपास के क्षेत्रों में पाए जाने वाले सांपों में दो सबसे खतरनाक अर्थात विषैले सांप है, जिनमें से एक कोबरा है। इसको सामान्य भाषा में नाग कहते हैं। दूसरा करैत है। उन्होंने दर्शकों को जागरूक करते हुए कहा कि सर्पदंश की स्थिति में कभी भी घबराना नहीं चाहिए । बहुत ही शालीनता से और धैर्य के साथ पहले यह निश्चित कर लेना आवश्यक चाहिए कि जिस सांप ने डसा है वह विषैला है अथवा नहीं। प्रायः ऐसा देखा जाता है कि बिना बिष वाले सांप के डसने से भी घबराहट और डर की वजह से समस्याएं बढ़ जाती हैं। आज सभी के पास कैमरा फोन है, संभव हो तो उस सांप की एक तस्वीर खींच सकते हैं। कंफर्म कर करने के बाद यदि वह विषैला सर्प है तो तत्काल अपने निकटतम स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचकर उपचार प्रारंभ करा दें। उन्होंने कहा कि आज भी लोग झाड़-फूंक आदि में अपना समय व्यर्थ करते हैं, लेकिन ऐसा कदापि ना करें। सर्पदंश के बाद भी इंसान की जान आसानी से बचाई जा सकती है। यदि सर्पदंश किसी सामान्य सर्प के द्वारा किया गया है और वह विषैला नहीं है तो बिल्कुल घबराना नहीं चाहिए क्योंकि वह कुछ ही देर में ठीक हो जाएगा। यदि किसी प्रकार की समस्या प्रतीत होती है तो प्राथमिक उपचार के लिए निकटतम चिकित्सालय पर जाकर अपना उपचार करा लेना उचित होगा। उन्होंने बताया कि प्राणी उद्यान में वर्तमान में 6 प्रजातियों के 17 सांप हैं, जिनमें कोबरा और रसल वाइपर जैसे विषैले सांप हैं।
इनके अतिरिक्त बिना बिष वाले सांप जैसे अजगर, धामन, चेकर्ड कीलबैक अथवा पानी का सांप, सेंड बोवा अर्थात मिट्टी का सांप
भी प्राणी उद्यान में है। दर्शक इसे देख कर पहचान सकते हैं, कौन-कौन से सांप विषैले हैं और कौन से सांप विष रहित हैं।
कार्यक्रम में प्राणी उद्यान के क्षेत्रीय वन अधिकारी गौरव वर्मा, चिकित्सक डॉ रवि यादव, वन दरोगा श्री मार्कंडेय, वन्यजीव रक्षक नीरज सिंह, हेरिटज फाउंडेशन के मनीष चौबे, पशु कल्याण कार्यकर्ता शिवेंद्र यादव आदि मौजूद रहे।

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति