Saturday, February 24, 2024
spot_img

42 दिनों बाद सोमवार को खुलेंगे जिले के 1792 परिषदीय स्कूल

42 दिनों बाद सोमवार को खुलेंगे जिले के 1792 परिषदीय स्कूल

JOIN

विद्यालयों की साफ-सफाई के निर्देश हुए बेमानी, गंदगी की भरमार

अयोध्या। जिले के 1792 परिषदीय विद्यालय तीन जुलाई सोमवार से 42 दिनों बाद खुलेंगे। स्कूलों के खुलने से पहले बेसिक शिक्षा विभाग के साफ-सफाई के दावों की अभी से पोल खुल गई है। जिले के अधिकतर स्कूलों में जहां गंदगी की भरमार है वहीं बारिश के चलते कई में जलभराव भी। ऐसे में तीन जुलाई से सुचारू रूप से पठन-पाठन की सम्भावना भी नहीं दिखाई देती है।
गर्मी की छुट्टी 15 मई से तीस जून तक की गई थी। उस बाद इसे दो जुलाई तक बढ़ा दिया गया। अब तीन जुलाई को स्कूल खोले जाने का आदेश जारी हुआ है। शनिवार को जिले के कुछ स्कूलों का जायजा लिया गया तो वहां गंदगी ही पसरी दिखाई दी। जबकि बेसिक शिक्षा अधिकारी की ओर से स्कूल खुलने के सप्ताह भर पहले ही साफ-सफाई के निर्देश दिए गए थे। इस संबंध में खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया गया था कि वह अपने अपने क्षेत्र के स्कूल चेक कर रिपोर्ट देगें लेकिन इसे भी अमल में नहीं लाया जा सका। अब दो जुलाई को रविवार है और सोम से स्कूलों का संचालन होना है। बेसिक शिक्षा अधिकारी संतोष कुमार राय ने कहा कि यदि कहीं अव्यवस्था गंदगी पाई गई तो संबधित प्रधानाध्यापक और इंचार्ज प्रधानाध्यापक के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

पूरा बाजार में झाड़ियों से घिरे हैं बच्चों के स्कूल

पूराबाजार क्षेत्र के 132 परिषदीय विद्यालय हैं लेकिन तैयारी के नाम पर परिसर की सफाई तक नहीं हुई है। विद्यालय परिसर के बड़ी-बड़ी झाड़ियां उगी हैं। प्राथमिक विद्यालय कर्मा कोडरी प्रथम व द्वितीय, सराय चैमल, कछौली, नरायनपुर,अंकवारा, अलावलपुर, मितसेनपुर, सूखापुर इटौरा, अंजना रसूलाबाद, खानपुर, कादीपुर ग्राम पंचायतों में बने परिषदीय विद्यालयों में गन्दगी का साम्राज्य है। बड़ी-बड़ी झाड़ियां उग आईं हैं। झाड़ियों में जहरीले जानवर रहने का खतरा है। इस बाबत खंड शिक्षा अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने बताया कि सभी प्रधानाध्यापकों को विद्यालय परिसर की सफाई निर्देश दिया गया है। विद्यालय खुलने से पहले साफ सफाई का कार्य हो जाएगा।

सोहावल में विद्यालय के गेट पर ही डंप है मिट्टी

ग्रीष्म अवकाश में विद्यालय बन्द कर निगरानी रखना शिक्षा समितियों ने जिम्मेदारी नही समझा। इन दिनों में विद्यालय परिसर कंही झाड़ियों में घिर गए हैं। कुछ ग्राम प्रधानों की रहम दिली से परिसर को शादी विवाह करने वालों ने गंदगी से भर दिया है। नगर पंचायत खिरौनी की कंपोजिट विद्यालय सुचित्तागंज प्रथम के गेट पर मिट्टी डंप कर अतिक्रमण कर रखा है। जिससे पूरा गेट तक नही खुल सकता है। सोमवार को बच्चे इसी मिट्टी से भरे गेट से प्रवेश पा सकेंगे। कुल 169 विद्यालयों वाले शिक्षा क्षेत्र के खंड शिक्षा अधिकारी यज्ञ नारायण कहते है 26 जून से पहले ही सफाई के निर्देश दिए गए है लेकिन सफाई कर्मियों ने कहीं सफाई किया नही है। अब सोमवार तक अन्य किसी व्यवस्था से सफाई कराई जाएगी। बरसात के कारण कहीं कहीं जल भराव भी हो सकता है। इसे लेकर चिंतन चल रहा है।

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति