Monday, July 15, 2024
spot_img

आपदा में फंसे हर व्यक्ति और परिवार तक पहुंच रही यूपी सरकार

आपदा में फंसे हर व्यक्ति और परिवार तक पहुंच रही यूपी सरकार

JOIN

– हरियाणा (रेवाड़ी) के धारूहेड़ा स्थित ऑटो पार्ट्स की कंपनी में ब्वायलर फटने मामले में यूपी सरकार संवेदनशील
– घायलों की सुरक्षा और देखभाल के प्रबंध के बावत तैनात किये अपर जिलाधिकारी/उप जिलाधिकारी स्तर के अधिकारी
– छ: मृतकों में से पांच की डेड बॉडी परिजनों को सौंपे गये

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने हरियाणा (रेवाड़ी) के धारूहेड़ा स्थित ऑटो पार्ट्स की कंपनी में ब्वायलर फटने मामले में संवेदनशीलता दिखाई है। अब तक की हुई कार्रवाई में पांच मृतकों के शवों को उनके परिजनों को सौंप दिया गया है जबकि एक मृतक के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपने की कार्यवाही गतिशील है। इधर, यूपी सरकार ने विभिन्न अस्पतालों में भर्ती घायलों की सुरक्षा और देखभाल के प्रबंध के बावत अपर जिलाधिकारी/उप जिलाधिकारी स्तर के अधिकारी को तैनाती दी है।

बता दें कि यूपी के 32 प्रभावितों में से घायलों के इलाज के लिए रेवाड़ी स्थित कंपनी ने घायलों के इलाज के लिए तत्काल रूप से 20-20 हजार रुपये उपलब्ध कराये थे और एम्बुलेंस की सुविधा मुहैया कराई थी। अब कंपनी की ओर से सभी छ: मृतक परिवारों को 06-06 लाख रुपये की अहेतुक सहयोग राशि भी मुहैया करा दी गयी है।

संवेदनशील है यूपी सरकार
चाहे वह उत्तराखंड के उत्तरकाशी के निर्माणाधीन सिल्क्यारा टनल दुर्घटना का मामला हो या अभी कुछ दिन पूर्व हरियाणा (रेवाड़ी) के धारूहेड़ा स्थित ऑटो पार्ट्स की कंपनी में ब्वायलर फटने से प्रभावित 39 लोगों में यूपी के 32 श्रमिकों के प्रभावित होने का मामला हो; यूपी सरकार की संवेदनशीलता सदैव देखने को मिली है। आपदा में पड़े प्रदेश के प्रत्येक नागरिक की चिंता करने वाली यूपी सरकार ने इन मामलों में प्रभावितों को राहत देने में बहुत तेजी से कार्य किया है। यूपी सरकार और राहत आयुक्त कार्यालय द्वारा संवेदनशीलता से आपदा में पड़े लोगों और उनके परिवारीजनों का त्वरित गति से सहयोग मिल रहा है।

राजपत्रित अधिकारी कर रहे निगरानी
हरियाणा राज्य के रेवाड़ी के धारूहेड़ा स्थित ऑटो पार्ट्स की कंपनी में 16 मार्च को ब्वायलर फटने की घटना में उत्तर प्रदेश के घायलों को लेकर यूपी सरकार काफी संवेदनशील बनी हुई है। यूपी सरकार ने अब घायलों की देखभाल की व्यवस्था में भी रुचि दिखाई। उत्तर प्रदेश सरकार के समन्वय सम्बन्धी निर्देश के बाद सक्रिय हुए जिलाधिकारी मेरठ ने घायलों की सुरक्षा और देखभाल के प्रबंध की व्यस्था को संभाल लिया। अब इन मृतकों से जुड़ी समस्याओं और घायलों को अन्य सहूलियतें प्रदान करने के लिए अपर जिलाधिकारी अथवा उप जिलाधिकारी स्तर के अधिकारी को तैनाती दी गयी है। यह अधिकारी पीजीआई रोहतक में तैनात है। दूसरी ओर, गौतमबुद्ध नगर में तैनात अतिरिक्त आपदा विशेषज्ञ को दिल्ली स्थित सफदरगंज हास्पिटल में भर्ती मरीजों के पास तैनाती दी गयी है। यहाँ भर्ती दो मरीजों में से उत्तर प्रदेश के अयोध्या के रहने वाले अमरजीत पुत्र ललमन की मौत के बाद पोस्टमार्टम की कार्यवाही चल रही है। पोस्टमार्टम के बाद इसकी डेड बॉडी को भी परिजनों को हैण्डओवर कर दिया जायेगा।

घायल श्रमिकों की हर स्थिति पर है नजर
इस संबंध में राहत आयुक्त जीएस नवीन कुमार का कहना है कि रेवड़ी हादसे में उत्तर प्रदेश में 32 श्रमिक शामिल थे। घायलों का इलाज चल रहा है। उत्तर प्रदेश के 06 मृतकों में से जिन 05 की डेड बॉडीज़ को परिजनों को सौंपा गया है, उनमें मैनपुरी के अजय पुत्र शिवचरण, फिरोजाबाद के राजेश पुत्र रामशब्द, बहराइच के विजय पुत्र बाल किशन, गोरखपुर के रामू पुत्र पावरू और हरदोई के पंकज पुत्र विजय बहादुर शामिल हैं। घायलों के इलाज में सहयोग हो रहा है। हमारी नजर घायलों के समुचित इलाज पर टिकी है।

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति