Monday, July 15, 2024
spot_img

उ प्र में चल रहा ‘कानून का राज’,यूपी में लोग यूपीकॉप ऐप के जरिए घर बैठे दर्ज करा रहे अपनी शिकायत

54 / 100

उ प्र में चल रहा ‘कानून का राज’

-प्रदेशवासियों का हमदर्द बना पुलिस का यूपीकॉप एप (UPCOP), अक्टूबर तक 25 लाख लोगों ने किया डाउनलोड

-मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर प्रदेश की पुलिस हुई हाईटेक, जनता को मिलीं कई तरह की सुविधाएं

-यूपी में लोग यूपीकॉप ऐप के जरिए घर बैठे दर्ज करा रहे अपनी शिकायत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब कानून का राज चल रहा है। प्रदेश की जनता मुख्यमंत्री योगी के नेतृत्व में खुद को महफूज महसूस करती है। पुलिस जनता की मित्र बन गई है। अन्य प्रदेशों की तुलना में उत्तर प्रदेश में विभिन्न अपराधों की संख्या में काफी गिरावट दर्ज की गई है। प्रदेश में 25 लाख लोग हैं, जिनके मोबाइल पर यूपी पुलिस की एेप ‘यूपीकॉप’ (UPCOP)डाउनलोड है। उन्हें छोटे-मोटे कामों के लिए पुलिस थानों के चक्कर नहीं लगाने पड़ते। ये लोग सामान्य तरह की शिकायतें एेप पर ही कर लेते हैं और उनकी शिकायतों का समाधान भी ऑनलाइन ही हो जाता है। मालूम हो कि इस एेप के जरिए यूपी पुलिस प्रदेशवासियों को नागरिक केंद्रीय सेवाएं उपलब्ध करा रही है। इसे एंड्राॅएड मोबाइल के प्ले स्टोर पर जाकर डाउनलोड किया जा सकता है।

सीएम ने अपनाई जीरो टॉलरेंस नीति

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे की सत्ता संभालते ही यूपी पुलिस को जीरो टॉलरेंस नीति को अपनाते हुए प्रदेश को अपराध मुक्त और अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजने के निर्देश दिए थे। जिसके फलस्वरूप देश के अन्य प्रदेशों की तुलना में उत्तर प्रदेश में विभिन्न अपराधों की संख्या में काफी गिरावट दर्ज की गई है। इतना ही नहीं, योगी सरकार ने पुलिस को पीड़ितों की शिकायत दर्ज कर अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे। इस पर यूपी पुलिस ने पीड़ितों को थाने आकर शिकायत दर्ज कराने समेत डिजिटल माध्यम से भी शिकायत दर्ज कराने की सुविधा प्रदान की। इसके लिए यूपी पुलिस ने यूपीकॉप एेप बनाया और इसका जमकर प्रचार प्रसार किया, जिसके फलस्वरूप जहां जनवरी तक 10 लाख लोगों ने इस एेप को डाउनलोड किया तो वहीं अक्टूबर तक इसे 25 लाख से अधिक लोगों ने अपने मोबाइल पर डाउनलोड किया।

सितंबर में एक लाख 83 हजार से अधिक लोगों ने भेजा अपना प्रार्थना पत्र

एडीजी महिला बाल सुरक्षा एवं संगठन नीरा रावत ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हाईटेक पुलिसिंग पर खासा जोर है। इसे ध्यान में रखते हुए यूपी पुलिस के यूपीकॉप एेप का प्रचार प्रसार किया गया ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसे अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर घर बैठे हमे अपनी शिकायत दर्ज करा सकें। इसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आए। जहां जनवरी में 10 लाख लोगों ने एेप को मोबाइल पर डाउनलोड कर रखा था, वहीं प्रचार प्रसार के बाद महज आठ माह में 25 लाख लोगों ने इसे अपने मोबाइल पर डाउनलोड किया और सितंबर में सत्यापन के लिए 183637 से अधिक लोगों ने एेप के जरिए अपना प्रार्थना पत्र भेजा जबकि मई में इसकी संख्या 69041 थी। अगर सितंबर में इसकी ग्रोथ की बात की जाए तो 165.98 प्रतिशत रही। वहीं सितंबर में एेप के जरिए 93278 से अधिक लोगों ने अपनी एफआईआर और खोयी हुई चीजों का प्रार्थना पत्र भेजा जबकि मई में इसकी संख्या 80 हजार के करीब थी।

व्यापक प्रचार प्रसार से लोगों के मोबाइल पर छाया यूपीकॉप ऐप

यूपी पुलिस ने यूपीकॉप एेप का हर प्रदेशवासी लाभ उठा सके, इसके लिए इसके प्रचार प्रसार पर जोर दिया। यूपी पुलिस ने प्रदेश के हर जिले में थाना दिवस, समाधान दिवस पर यूपीकॉप एेप के बैनर लगवाकर इसका प्रसार प्रसार किया ताकि ज्यादा से लोग इसका लाभ उठा सकें और घर बैठे अपनी शिकायत दर्ज करा सकें। इतना ही नहीं एेप के स्टीकर को यूपी-112 के हर पीआरवी वाहन में लगवाया गया। वहीं एफएम, रेडिया चैनल बिग एफएम, रेडियो सिटी, रेड एफएम और फीवर एफएम के माध्यम से गोरखपुर, लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, आगरा, बरेली, कानपुर और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एेप का प्रचार प्रसार किया गया। साथ ही अप्रैल से लेकर जुलाई के बीच दस-दस हजार पोस्टर छपवाकर प्रदेश के जोनल कार्यालय, तहसील, ब्लॉक, जनसेवा केंद्र, अस्पताल, पंचायत घरों, थानों एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर इसे वितरित किया गया।

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति