Monday, July 15, 2024
spot_img

तमिल लोकनृत्य थापट्टम एवं सिलम्बट्टम के कलाकारों के प्रदर्शन ने दर्शकों को किया रोमांचित 

74 / 100

तमिल लोकनृत्य थापट्टम एवं सिलम्बट्टम के कलाकारों के प्रदर्शन ने दर्शकों को किया रोमांचित 

वाराणसी :  काशी तमिल संगमम के तहत आयोजित सांस्कृतिक संध्या में विनायक  आज के कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विनायक सोनी फायरवर्क्स ग्रुप के अध्यक्ष गणेशन पंजुराजन रहे। काशी औऱ तमिनलाडु के प्राचीन संबंधों की चर्चा करते हुए उन्होंने शिवकाशी के नाम के पीछे की पौराणिक कथा बताई। उन्होंने कहा कि जब पराक्रम पांड्यन् काशी से लेकर शिवलिंग तेनकाशी जा रहे थे, तभी उन्हें रास्ते में एक गाय ने शिवलिंग की पूजा करने हेतु रोक दिया। इस कारण वह स्थान शिवकाशी के नाम से प्रचलित हुआ। वर्तमान में तमिलनाडु का शिवकाशी जिला अपनी औद्योगिक गतिविधियों के माध्यम से भारतीय अर्थव्यवस्था में अपना योगदान देता है।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में थंजावूर के राजकुमार ‘श्री एस. भाभाजी राजा भोंसले’ उपस्थित थे। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक हमारा भारत देश विविधताओं से भरा है। काशी तमिल संगमम जैसे आयोजन से ऐसी कलाओं तथा कलाकारों को एक मंच मिला है जो पहले उपेक्षित थे।

JOIN

सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सर्वप्रथम  प्रस्तुति स्थानीय कलाकारों ने दी जिनकी शुरुआत डॉ. शाभित नाहर, डॉ. अंजली शर्मा और छात्रों के द्वारा की गई। डॉ. शाभित नाहर ने ‘राग चारुकेसी’ में मधुर सितार वादन किया। इसके पश्चात् प्रो. रिचा कुमार और छात्राओं ने लोकगीत की प्रस्तुति दी, जिसमें प्रमुख रूप से पूर्वांचल में विवाहोत्सव में गाया जाने वाला गीत “गारी राम जी से पूछे जनकपुर के नारी” सुनाया। स्थानीय कलाकारों में अंतिम प्रस्तुति संगीत एवं मंच कला संकाय काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की शोध छात्राओं शिवानी चौरसिया, अंजली गुप्ता एवं राजश्री ने दी। इनके द्वारा बनारस की पारंपरिक दादरा ‘मोहे मारे नजरिया सांवरिया’ की प्रस्तुति हुई।

इसके बाद तमिलनाडु से आए कलाकारों द्वारा प्रस्तुतियां दी गईं जिनमें प्रथम प्रस्तुति थिरूपुग्गा गीत की हुई। यह तमिल भक्ति संगीत है जिसकी रचना महाकवि ‘अरनागिरी नाथर’ द्वारा 15वीं शती में हुई थी। यह रचना भगवान कार्तिकेय पर आधारित है। इसके प्रस्तुतकर्ता श्री ई. एन. मूर्ति एवं श्रीमती चित्रा मूर्ति थीं। श्री मूर्ति जम्मू कश्मीर के पूर्व आईएएस अधिकारी हैं।

तत्पश्चात् नादस्वरम्  वादन एम. कार्तिकेयन द्वारा प्रस्तुत किया गया। यह प्रस्तुति “एक भारत, श्रेष्ठ भारत” की भावना से ओतप्रोत रही।

अगली प्रस्तुति ‘श्री जे. चंद्रू एवं समूह’ द्वारा तमिलनाडु के प्रसिद्ध लोकनृत्य Thappattam एवं Silambattam की हुई। यह अत्यंत ही प्राचीन लोकनृत्य है जिसकी चर्चा ‘तमिल संगम साहित्य’ में मिलती है। इसे आदिम मानव समाजों ने अपने एकत्र होने, अपने समूह को खतरों से आगाह करने और जानवरों से खुद को बचाने के लिए बनाई थी। इसकी शानदार प्रस्तुति से दर्शक रोमांचित हो उठे।

कार्यक्रम की अगली प्रस्तुति तमिलनाडु के एक लोकगीत के माध्यम से हुई। इस लोकगीत को राजीव गांधी मन्नारगुडी ने प्रस्तुत किया।

श्रृंखला की अगली प्रस्तुति तमिलनाडु के  एक लोकनाटक थेरुकुट्टू की प्रस्तुति ‘ Shri K. Parthiban Palacode’ एवं समूह द्वारा दी गई। आज के नाटक में महाभारत के सुप्रसिद्ध चरित्र अर्जुन के बारे में बताया गया। इस नाटक में महाभारत के युद्ध के समय अर्जुन द्वारा भगवान शिव से आशीर्वाद प्राप्त किए जाने का प्रसंग सुनाया गया।

कार्यक्रम की अंतिम प्रस्तुति पुईक्कलपुदुरईअट्टम एवं मईलाट्टम रही। पुईक्कलपुदुरईअट्टम में ‘dummy horse dance’ तथा मईलाट्टम में ‘dummy peacock dance’ को दिखाया गया। यह प्रस्तुति एम. गुरुमूर्ति के निर्देशन में हुई।

ALSO READ

AYODHYALIVE BHU : Funds will not be an obstacle for ensuring high quality teaching and research: Prof. Sudhir Jain 

काशी तमिल संगमम् में जारी है सांस्कृतिक रंगों की बहार, कथक, पेरियामलम, कोलट्टम एवं कुमयनुअट्टम की प्रस्तुतियों से सम्मोहित हुए दर्शक

अयोध्यालाइव : अयोध्या की सेवा में है डबल इंजन की सरकार : सीएम

अयोध्यालाइव : राम की संस्कृति जहां भी गई, मानवता के कल्याण का मार्ग प्रशस्त करती रहीः सीएम योगी

अयोध्यालाइव : रामनगरी को विश्व स्तरीय पर्यटन नगरी बनाने के लिए समय से कार्य करें अफसर: सीएम योगी

अयोध्यालाइव : बुलेट ट्रेन की गति से विकास कराती है ट्रिपल इंजन की सरकार : सीएम योगी

अयोध्यालाइव : कुलपति ने किया लैब्स का निरीक्षण

अयोध्यालाइव : सीएम योगी ने किया रामलला और हनुमानगढ़ी का दर्शन पूजन

अयोध्यालाइव : मुख्यमंत्री योगी ने किया अयोध्या विजन 2047 के कार्यो की समीक्षा

अयोध्यालाइव : दवाओं के साथ लें सात बार आहार, मिलेगी टीबी से मुक्ति  

प्रभु राम के आशीर्वाद से हो रहे त्रेता की अयोध्या के दर्शनः पीएम मोदी

: https://www.ayodhyalive.com/anganwadi-center…ment-of-children/ ‎

15 लाख 76 हजार दीपों का प्रज्जवलन कर बना वल्र्ड रिकार्ड

आयुर्वेद कैसे काम करता है – क्या है तीन दोष ?

दुनिया के इन देशों में भी भारत की तरह मनाई जाती है दीपावली

सम्पूर्ण भोजन के साथ अपने बच्चे का पूर्ण विकास सुनिश्चित करें : आचार्य डॉक्टर आरपी पांडे 

वजन कम करने में कारगर हे ये आयुर्वेदिक औषधियाँ :आचार्य डॉक्टर आरपी पांडे

सोने से पहले पैरों की मालिश करेंगे तो होंगें ये लाभ: आचार्य डॉक्टर आरपी पांडे

कुलपति अवध विश्वविद्यालय के कथित आदेश के खिलाफ मुखर हुआ एडेड डिग्री कालेज स्ववित्तपोषित शिक्षक संघ

अयोध्या में श्री राम मंदिर तक जाने वाली सड़क चौड़ीकरण के लिए मकानों और दुकानों का ध्वस्तीकरण शुरू

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राम जन्मभूमि परिसर के विकास की योजनाओं में किया बड़ा बदलाव

पत्रकार को धमकी देना पुलिस पुत्र को पड़ा महंगा

बीएचयू : शिक्षा के अंतरराष्ट्रीयकरण के लिए संस्थानों को आकांक्षी होने के साथ साथ स्वयं को करना होगा तैयार

राष्ट्रीय शिक्षा नीति का उद्देश्य शिक्षा को 21वीं सदी के आधुनिक विचारों से जोड़ना : PM मोदी

प्रवेश सम्बधित समस्त जानकारी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

घर की छत पर सोलर पैनल लगाने के लिए मिल रही सब्सिडी, बिजली बिल का झंझट खत्म

बीएचयू : कालाजार को खत्म करने के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में महत्वपूर्ण खोज

नेपाल के लोगों का मातृत्व डीएनए भारत और तिब्बत के साथ सम्बंधितः सीसीएमबी व बीएचयू का संयुक्त शोध

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति