अयोध्यालाइव

Thursday, December 1, 2022

लू अर्थात हीट स्ट्रोक को लेकर बरतें एहतियात: डीएम

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest

Listen

लू अर्थात हीट स्ट्रोक को लेकर बरतें एहतियात: डीएम

अयोध्या।  जिलाधिकारी नितीश कुमार ने लू अर्थात हीट स्ट्रोक को लेकर एहतियात बरतने और स्वास्थ्य महकमें को आवश्यक उपाय को कहा है। जारी दिशा-निर्देश में जिलाधिकारी ने बताया है कि भारतीय मौसम विभाग के अनुसार जब किसी जगह का स्थानीय तापमान लगातार 03 दिन तक वहाँ के सामान्य तापमान से 03 डिग्री से या अधिक बना रहे तो उसे लू या हीट वेव कहते है। विश्व गौसम संघ के अनुसार यदि किसी स्थान का तापमान लगातार 05 दिन तक स्थानीय सामान्य तापमान से 5 डिग्री अथवा लगातार दो दिन तक 45 डिग्री से अधिक रहने पर उसे हीट वेव या लू माना जाता है।

वातावरणीय तापमान 37 डिग्री रहने तक मानव शरीर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता, लेकिन तापमान 37 डिग्री से ज्यादा होने पर हमारा शरीर वातावरणीय गर्मी को शोषित कर शरीर के तापमान को प्रभावित करने लगता है। गर्मी में सबसे बड़ी समस्या होती है लू लगना, जिसे अंग्रेजी में इसे हीट स्टोक या सन स्टॉक कहते है। गर्मी में उच्च तापमान में ज्यादा देर तक रहने से या गर्म हवा के झोंकों से संपर्क में आने पर लू लगती है। जिससे गर्मी में शरीर के द्रव्य बाडी फल्यूड सूखनें लगती है और शरीर से पानी नमक की कमी होने पर खतरा ज्यादा रहता है।

शराब की लत, हृदय रोग पुरानी बीमारियों, मोटापा पार्किसंस रोग अधिक उम्र, अनियंत्रित मधुमेह सहित ऐसी कुछ औषधियों जैसे डाययूरेटिक, एंटीहिस्टामिनिक मानसिक रोग की कुछ औषधियों के सेवन की स्थितियों में लोगों को लू लगने की संभावना अधिक रहती है। उन्होंने बताया कि हीट स्ट्रोक को व्यक्ति का शरीर गर्म लाल, शुष्क त्वचा का होना, पसीना न आना, तेज पल्स होना, उथले श्वास गति में तेजी, व्यवहार में परिवर्तन भ्रम की स्थिति, सिरदर्द, मितली, थकान और कमजोरी होना चक्कर आना, मूत्र न होना अथवा इसमें कमी के लक्षणो से पहचाना जा सकता है।

उच्च तापमान से शरीर के आंतरिक अंगों, विशेष रूप से मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाता है तथा शरीर में उच्च रक्तचाप के चलते मनुष्य के हृदय के कार्य पर प्रतिकूल प्रभाव होता हैं। एक या दो घण्टे से अधिक समय तक 40.6 डिग्री सेल्सियस,105 डिग्री या अधिक तापमान से मस्तिष्क में क्षति होने की संभावना प्रबल हो जाती है।

अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) महेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि हीट वेव की स्थिति शरीर की कार्य प्रणाली पर प्रभाव डालती है, जिससे मृत्यु भी हो सकती है। इसके प्रभाव को कम करने के लिए जिलाधिकारी ने प्यास न लगी हो तब भी अधिक से अधिक पानी पियें, हल्के रंग के पसीना शोषित करने वाले हल्के वस्त्र पहनें, धूप के चश्में, छाता, टोपी, व चप्पल का प्रयोग करें, अगर आप खुले में कार्य करते है तो सिर चेहरा, हाथ पैरों को गीले कपड़े से ढके रहें तथा छाते का प्रयोग करें। लू से प्रभावित व्यक्ति को छाया में लिटाकर सूती गीले कपड़े से पोछे अथवा नहलाये तथा चिकित्सक से सम्पर्क करें।

यात्रा करते समय पीने का पानी अपने साथ ले जाएं। पानी की भरपाई के लिये ओआरएस घर में बने हुये पेय पदार्थ जैसे लस्सी, चावल का पानी (माड), नीबू पानी, छाछ आदि का उपयोग करें । हीट स्ट्रोक, हीट रैश, हीट कै्रम्प के लक्षणों जैरो कमजोरी, चक्कर आना, शरदर्द, उबकाई, पसीना आना, मूर्छा आदि को पहचाने। यदि मूर्छा या बीमारी अनुभव करते है तो तुरंत चिकित्सीय सलाह लें। अपने घरों को ठण्डा रखे, पर्दे दरवाजे आदि का उपयोग करें तथा शाम व रात के समय घर तथा कमरों को ठण्डा करने हेतु इसे खोल दें।

गर्भस्थ महिला कर्मियों तथा रोगग्रस्त कर्मियों पर अतिरिक्त ध्यान देना चाहिए। जानवरों एवं बच्चों को कभी भी बन्द/खड़ी गाडिय़ों में अकेला न छोड़े। दोपहर 12 से 03 बजे के मध्य सूर्य की रोशनी में जाने से बचें। सूर्य के ताप से बचने के लिये जहां तक सम्भव हो घर के निचली मंजिल पर रहें। गहरे रंग के भारी तथा तंग कपड़े न पहनें। जब बाहर का तापमान अधिक हो तब श्रमसाध्य कार्य न करें। अधिक प्रोटीन तथा बासी एवं संकमित खाद्य एवं पेय पदार्थों का प्रयोग न करें तथा अल्कोहल, चाय, व काफी पीने से परहेज करें।

https://www.ayodhyalive.com/11269-2/

https://go.fiverr.com/visit/?bta=412348&brand=fiverrhybrid

https://go.fiverr.com/visit/?bta=412348&brand=fiverrcpa

ADVERTISEMENT

Related News

Leave a Reply

JOIN TELEGRAM AYODHYALIVE

Currently Playing
Coming Soon
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?

Our Visitor

131162
Users Today : 20
Total Users : 131162
Views Today : 31
Total views : 170014
December 2022
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031  
Currently Playing

OUR SOCIAL MEDIA

Also Read

%d bloggers like this: