अयोध्यालाइव

Wednesday, May 25, 2022

सफलता के लिए जोखिम लेना है आवश्यकः प्रो. शैलेंद्र सिंह

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest

Listen

सफलता के लिए जोखिम लेना है आवश्यकः प्रो. शैलेंद्र सिंह

पुरातन छात्रों के अनुभवों से मौजूदा विद्यार्थियों को भविष्य निर्धारण में सुविधाः कुलपति

पुरातन छात्र परिषद के दो दिवसीय सम्मेलन का शुभारम्भ

अयोध्या। डाॅ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के प्रबंधन पुरातन छात्र परिषद का दो दिनी सम्मेलन शुक्रवार से आरंभ हो गया। विवि के स्वामी विवेकानंद सभागार में हुए सम्मेलन का उद्घाटन मुख्य अतिथि आइआइएम लखनऊ के चेयरमैन एचआरडी प्रो. शैलेंद्र सिंह व कुलपति प्रो. रविशंकर सिंह ने मां सरस्वती की प्रतिमा के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर किया। मुख्य अतिथि ने कहाकि विद्यार्थियों को नौकरी करने के बजाय उद्यमिता से जुड़कर रोजगार देने वाला बनना चाहिए।

जोखिम लेने वाले ही आगे बढ़ते हैं

उन्होंने कहाकि जोखिम लेने वाले ही आगे बढ़ते हैं। सरकारें भी उद्यमिता को लगातार बढ़ावा दे रही हैं। स्टार्टअप जैसी योजनाओं का विद्यार्थियों को लाभ उठाना चाहिए। विवि के कुलपति प्रो. रविशंकर सिंह ने कहाकि ऐसे आयोजनों से वर्तमान छात्रों को पूर्व के विद्यार्थियों के अनुभव जानने का अवसर मिलता है। पूर्व के छात्रों के अनुभवों से मौजूदा विद्यार्थियों को भविष्य निर्धारण में सुविधा होती है और रोजगार के नए अवसरों का भी पता चलता है।

कर्म पर विश्वास करना चाहिए

सम्मेलन में व्यवसाय प्रबंध एवं उद्यमिता विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. आरएन राय ने कहाकि विद्यार्थियों को भाग्यवादी होने के बजाय कर्म पर विश्वास करना चाहिए। उन्होंने कहा, यह विभाग वर्ष 1994 में 30 छात्रों के साथ आरंभ किया गया था, जिसमें अब एक हजार 30 विद्यार्थी पढ़ रहे हैं। विभाग के अध्यक्ष प्रो. अशोक शुक्ल ने कहाकि अब उद्यमिता का युग है। उन्होंने कहाकि विभाग के कई ऐसे पूर्व छात्र हैं, जिन्होंने शुरुआत में तो नौकरी की, लेकिन बाद में उद्यमिता से जुड़कर औरों को रोजगार दिया। कुलपति ने विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. आरएन राय व आगामी 30 जून को सेवानिवृत्त होने वाले प्रो. अशोक शुक्ल को विदाई भी दी। अतिथियों ने विभाग की स्मारिका का विमोचन किया।

ADVERTISEMENT

प्रो. शैलेंद्र वर्मा ने विभाग की 25 वर्षों की यात्रा पर प्रकाश डाला। शनिवार को सम्मेलन में तकनीकी सत्र का आयोजन किया जाएगा, जिसमें शोध पत्र प्रस्तुत किए जाएंगे। कार्यक्रम के दौरान सम्मेलन वर्ष 1994-95 से लेकर 2020-2021 तक के पूर्व छात्रों का जमावड़ा हुआ। इनमें पंकज श्रीवास्तव, आशुतोष सिंह, धीरज सिंह, समीर सक्सेना, विवेक तिवारी, मनोज शर्मा, अभिलाषा अवस्थी, डा. मनोज रावत, रामानंदन, विवेक तिवारी समेत कई पूर्व छात्रों का एकत्रीकरण हुआ। इस दौरान पूर्व छात्र अपने-अपने बैच के विद्यार्थियों के साथ भावुक होकर भेंट करते नजर आए तो शिक्षकों से मिलकर उनके प्रति भी आदरभाव व्यक्त किया।

इस अवसर पर वित्त अधिकारी प्रो. सीके मिश्र, प्रो. शैलेंद्र कुमार, प्रो. विनोद श्रीवास्तव, प्रो. एसएस मिश्र, डा. राना रोहित सिंह, कुलसचिव उमानाथ, अविवि पुरातन छात्र परिषद के अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह, डा. एके पांडेय, डा. महेंद्र पाल, अनुराग तिवारी, डा. निमिष मिश्रा, डा. अंशुमान पाठक, प्रशासनिक अधिकारी डा. श्रीश अस्थाना, कपिलदेव चैरसिया, प्रवीण राय, डा. दीपा सिंह, डा. राकेश कुमार, डा. अनीता मिश्रा, डा. रविंद्र भारद्वाज, डा. आशीष पटेल, डा. रामजीत, डा. आशीष पटेल, डा. संजीत पांडेय, डा. योगेश दीक्षित, डा. प्रियंका सिंह, कविता श्रीवास्तव, डा. प्रियंका सिंह, सूरज सिंह, डा. विवेक उपाध्याय, जूलियस कुमार आदि मौजूद रहे।

https://www.ayodhyalive.com/10723-2/

अयोध्यालाइव समाचार youtube चैनल को subscribe करें और लेटेस्ट खबरों से अपडेट रहे।
https://www.youtube.com/channel/UCs8PPJM3SmMZdIMQ6pg4e1Q?sub_confirmation=1

Advertisements

Related News

Leave a Reply

JOIN TELEGRAM AYODHYALIVE

CYCLE STUNT IN RAM KI PAIDI AYODHYA

Currently Playing
Coming Soon
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?

Our Visitor

113459
Users Today : 166
Total Users : 113459
Views Today : 200
Total views : 145886
May 2022
M T W T F S S
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  
Currently Playing
May 2022
M T W T F S S
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031  

OUR SOCIAL MEDIA

Herbal Homoea Care

Also Read

%d bloggers like this: