Sunday, May 26, 2024
spot_img

यूक्रेन के विदेश मामलों की पहली उपमंत्री, एमिन झापरोवा आज से भारत की 4 दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर

55 / 100

यूक्रेन के विदेश मामलों की पहली उपमंत्री, एमिन झापरोवा आज से भारत की 4 दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर



यूक्रेन की विदेश मामलों की पहली उपमंत्री, एमिन झापरोवा आज से भारत के चार दिवसीय दौरे पर आएंगी।
अधिकारियों के मुताबिक वो इस दौरान द्विपक्षीय संबंधों और रूस-यूक्रेन जंग के बारे में चर्चा करेंगी।

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव, यूक्रेन की विदेश मामलों की उपमंत्री के भारत आने से एक महीने पहले मार्च में भारत आए थे। इस दौरान उन्होंने यूक्रेन जंग पर हो रही रूसी राष्ट्रपति की आलोचनाओं पर जवाब दिया था।

बुर्किना फासो में हुए दो चरमपंथी हमलों में 44 लोगों की मौत

उत्तरी बुर्किना फासो में हुए दो हमलों में 44 लोगों की मौत हो गई है। एक अधिकारी ने इन मौतों की पुष्टि की है।
ये दो हमले नाइजर सीमा के पास साहेल इलाके में कोराकू और टोंडोबी गांवों में हुए थे।

किसी भी समूह ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन इस इलाके में अक्सर जिहादी हिंसा होती है। अधिकारियों ने इसके लिए ”हथियारबंद आतंकी समूहों” को जिम्मेदार ठहराया है।

चरमपंथी संगठन अल-कायदा और इस्लामिक स्टेट से जुड़े चरमपंथी समूह इस इलाके में सक्रिय हैं। साहेल इलाके के लेफ्टिनेंट-गवर्नर रोडोल्फ सर्गो ने कहा कि इस ”घृणित और बर्बर हमले” के लिए जिम्मेदार हमलावरों को निष्क्रिय कर दिया गया है।

यूक्रेन युद्ध से जुड़े दस्तावेज लीक होने की जांच कर रहा अमेरिका

अमेरिकी रक्षा विभाग विभिन्न सोशल मीडिया साइट पर जारी उन दस्तावेजों की जांच रहा है, जिनमें रूस के आक्रमण का सामना कर रहे यूक्रेन को वाशिंगटन और नाटो (उत्तर एटलांटिक संधि संगठन) की ओर से दी जा रही मदद का ब्योरा देने का दावा किया गया है।

हालांकि, विभाग का कहना है कि इनमें से कई दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ की गई है और आशंका है कि इनका इस्तेमाल यूक्रेन युद्ध को लेकर गलत सूचना प्रसारित किए जाने के अभियान के तहत किया गया है।

ट्विटर सहित अन्य सोशल मीडिया साइट पर जारी इन दस्तावेजों को गोपनीय बताया गया है। ये दस्तावेज अमेरिका के ज्वाइंट चीफ आफ स्टाफ द्वारा दिए जाने वाले दैनिक विवरण के जैसे प्रतीत होते हैं, जिन्हें सार्वजनिक नहीं किया जाता है।

इस साल 23 फरवरी से एक मार्च के बीच के इन दस्तावेजों में अमेरिका और नाटो द्वारा यूक्रेन को दिए जाने वाले हथियारों और अन्य सैन्य साजोसामान की मात्रा और समयसीमा के बारे में अधिक सटीक जानकारी देने का दावा किया गया है। हालांकि, दस्तावेजों में युद्ध की योजना के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है।

पाकिस्तान में राष्ट्रपति ने संसद को लौटाया विधेयक

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने प्रधान न्यायाधीश की शक्तियों में कटौती से संबंधित एक विधेयक शनिवार को पुनर्विचार के लिए संसद को लौटा दिया और कहा कि प्रस्तावित कानून संसद के अधिकार क्षेत्र से बाहर है तथा कानूनी तौर पर सही नहीं होने की वजह से इसे अदालत में चुनौती दी जा सकती है।

प्रधान न्यायाधीश उमर अता बांदियाल की अध्यक्षता वाली उच्चतम न्यायालय की तीन सदस्यीय पीठ ने मंगलवार को पंजाब विधानसभा के चुनाव की नई तारीख 14 मई तय की थी और मतदान की तारीख 10 अप्रैल से बढ़ाकर आठ अक्तूबर करने के निर्वाचन आयोग के फैसले को रद्द कर दिया था, जिसके बाद पाकिस्तान में न्यायपालिका और सरकार के बीच तकरार देखने को मिल रही है।

पाकिस्तान मुसलिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) पार्टी के नेता व प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार ने शीर्ष अदालत के फैसले की आलोचना की और इस फैसले को स्वीकार करने से मना कर दिया। सरकार पाकिस्तान के प्रधान न्यायाधीश (सीजेपी ) बांदियाल की शक्तियों पर अंकुश लगाना चाहती है।

पिछले महीने संसद के दोनों सदनों ने उच्चतम न्यायालय (कार्य व प्रक्रिया) अधिनियम- 2023 को पारित कर दिया था, जिसके बाद इसे मंजूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेजा गया।

ताइवान – अमेरिका की बढ़ती नजदीकियों पर भड़का चीन

ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन की हालिया अमेरिका यात्रा से बिदके चीन ने शनिवार को ताइवान जलडमरूमध्य की तरफ युद्धपोत और दर्जनों लड़ाकू विमान भेजे। ताइवान की सरकार ने यह जानकारी दी है।

वहीं, ताइवान की सेना ने कहा कि मिसाइल रक्षा प्रणाली को सक्रिय कर दिया गया है और चीनी विमानों का पता लगाने के लिए हवाई और समुद्री गश्ती दल भेजे गए हैं।

चीन ने यह कदम वेन और अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष केविन मैक्कार्थी के बीच हुई मुलाकात से नाराज होकर उठाया है। चीन यह दावा करता है कि ताइवान उसका भूभाग है।

अमेरिकी प्रतिनिधि मंत्रालय ने बताया कि ताइवान के पास शनिवार को आठ युद्धपोत और 71 विमान देखे गए हैं।

चीन ने यह कदम वेन और अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष केविन मैक्कार्थी के बीच हुई मुलाकात से नाराज होकर उठाया है। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने कहा कि ‘लड़ाकू तैयारी से संबंधित तीन दिवसीय गश्त की शुरुआत ताइवान के लोगों को चेतावनी के तौर पर की गई है।

पूर्वी कांगो में विद्रोहियों के हमले में कम से कम 22 लोगों की मौत

पूर्वी कांगो में चरमपंथी विद्रोहियों के हमले में कम से कम 22 आम नागरिकों की मौत हो गई। स्थानीय अधिकारियों ने यह जानकारी दी। समूह का इस सप्ताह में यह दूसरा बड़ा घातक हमला है।

ओइचा के मेयर निकोलस कम्बाले ने बताया कि आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से संबंध रखने वाले ‘एलाइड डेमोक्रेटिक फोर्सेस’ (एडीएफ) के लोगों ने शुक्रवार देर शाम उत्तरी किवु प्रांत के बेनी क्षेत्र में लोगों पर हमला किया।

उन्होंने शनिवार को कहा कि दुश्मन ने बेरहमी से उनकी हत्या कर दी। कम्बाले ने बताया कि इस हमले में कम से कम 22 आम नागरिकों की मौत हो गई।

इससे कुछ दिन पहले, एडीएफ ने इटुरी में इरुमु और मांबासा क्षेत्रों के बीच महिलाओं और बच्चों सहित 30 से अधिक आम नागरिकों की हत्या कर दी थी।

तोशाखाना मामला: लाहौर उच्च न्यायालय 12 अप्रैल को इमरान खान की याचिका पर सुनवाई करेगा

पाकिस्तान की एक अदालत ने देश के अपदस्थ प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ तोशाखाना भ्रष्टाचार मामले की बहुप्रतीक्षित सुनवाई के लिए शनिवार को 12 अप्रैल की तारीख तय की। न्यायाधीश शाहिद बिलाल हसन की अध्यक्षता वाली लाहौर उच्च न्यायालय की पांच सदस्यीय पीठ याचिका पर सुनवाई करेगी।

इसमें कहा गया कि अदालत 12 अप्रैल को सुनवाई फिर से शुरू करेगी और इस मामले में दोनों पक्षों को अपनी दलीलें पेश करने की अनुमति देगी।

पाकिस्तान में तोशाखाना एक सरकारी विभाग है, जहां अन्य सरकारों के प्रमुखों, विदेशी हस्तियों द्वारा राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सांसदों, नौकरशाहों और अधिकारियों को दिए गए उपहारों को रखा जाता है। इमरान खान पर तोशाखाने में रखे गए तोहफों (जिसमें उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री होने के नाते मिली एक महंगी घड़ी भी शामिल है) को कम दाम पर खरीदने और फिर उन्हें बेचकर लाभ कमाने का आरोप है।

ट्यूनीशिया : प्रवासियों को ले जा रही नाव पलटी, दर्जनों लोग लापता

ट्यूनीशिया के पूर्वी तट पर दो प्रवासी नौकाओं के डूबने से 27 लोग लापता हो गए हैं। पहली नाव ट्यूनीशिया से शुक्रवार को इटली के लिए रवाना हुई, जिसमें 37 सवार थे।

स्फैक्स शहर में एक अदालत के प्रवक्ता ने कहा कि 20 लोग लापता हैं जबकि 17 को बचा लिया गया है। शनिवार को एक दूसरी नाव डूबने के बाद समुद्र तट से चार शव बरामद किए गए थे।

प्रवक्ता ने कहा कि दूसरी नाव पर सवार छत्तीस लोगों को बचा लिया गया और तीन लोग अभी भी लापता हैं। उन्होंने कहा कि नावें लोहे की चादरों से बनी थीं। मार्च की शुरुआत के बाद से, ट्यूनीशिया में कम से कम सात समान जहाज के मलबे मिले हैं, जिनमें लगभग 100 लोग लापता हो गए हैं।

ट्यूनीशियाई तटरेखा के कुछ हिस्से लैम्पेडुसा से लगभग 150 किलोमीटर दूर हैं, यह एक इतालवी द्वीप है जिसे अक्सर मुख्य भूमि के लिए एक क्रॉसिंग पॉइंट के रूप में उपयोग किया जाता है। इटली से इसकी निकटता ने ट्यूनीशिया को लीबिया से आगे निकलते हुए देखा है, जो मध्य पूर्व और अफ्रीका में संघर्ष से भाग रहे लोगों और यूरोप में बेहतर जीवन की तलाश में गरीबी के मुख्य प्रस्थान बिंदु के रूप में है।

ईरान: महिलाओं के हिजाब पहनने पर नजर रखने के लिए लगाए जा रहे कैमरा

ईरान में महिलाओं के हिजाब पहनने पर नजर रखने के लिए सार्वजनिक जगहों पर कैमरे लगाए जा रहे हैं। ईरान की पुलिस ने इसकी घोषणा करते हुए बताया कि जिन महिलाओं के बाल ढंके नहीं होंगे उनकी पहचान कर उन्हें “मैसेज के जरिए चेतावनी दी जाएगी।”

पुलिस ने कहा कि इससे “हिजाब कानून के खिलाफ विरोध” को रोकने में मदद मिलेगी। ईरान में ये फैसला तब लिया गया है जब पिछले साल महसा अमीनी की पुलिस कस्टडी में मौत के बाद पूरे देश में हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए थे। महसा अमीनी को हिजाब ना पहनने के कारण गिरफ्तार किया गया था।

इसके बाद से कई महिलाओं ने अपना हिजाब उतारकर विरोध जताया और इस विरोध प्रदर्शन का असर ईरान के साथ-साथ विदेशों में भी दिखा।

1979 में ईरानी क्रांति के बाद देश में धार्मिक कानून को सख्ती से लागू किया गया और इसी के तहत महिलाओं के लिए हिजाब पहनना अनिवार्य कर दिया गया। हिजाब न पहनने पर महिलाओं को जुर्माने या सजा का सामना करना पड़ सकता है।

अदाणी पावर के गोड्डा संयंत्र से बांग्लादेश विद्युत विकास बोर्ड को 450 मेगावॉट बिजली मिली

अदाणी पावर के गोड्डा संयंत्र से बृहस्‍पतिवार रात को बांग्लादेश विद्युत विकास बोर्ड- बीपीडीबी को 450 मेगावॉट बिजली मिली। सरकारी समाचार एजेंसी बीएसएस ने बताया है कि बाद में इसे बढ़ाकर 750 मेगावाट कर दिया गया।

बीपीडीबी के आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया है कि गोड्डा संयंत्र से बिजली की आपूर्ति मांग के अनुसार धीरे-धीरे बढ़ेगी। प्रवक्‍ता ने बताया कि बांग्लादेश को गोड्डा संयंत्र से गुणवत्तापूर्ण बिजली मिल रही है। बृहस्‍पतिवार से व्‍यावसायिक आपूर्ति शुरू होने से पहले, झारखंड के गोड्डा में अदाणी पावर प्लांट ने 14 दिनों तक कामकाज की गुणवत्ता का परीक्षण किया था।

इस दौरान व्‍यस्‍त समय में 72 घंटे तक निर्बाध आपूर्ति का परीक्षण किया गया। अदाणी पावर और बीपीडीबी ने परीक्षण से पहले ट्रांसमिशन लाइन का काम पूरा कर लिया। पावर ग्रिड कंपनी ऑफ बांग्लादेश- पीजीसीबी ने अदाणी पावर के गोड्डा संयंत्र से बिजली प्राप्त करने के लिए चपाईंनवाबगंज सीमा से बोगरा उपकेंद्र तक 134 किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन का निर्माण किया था।

बांग्लादेश वर्तमान में भारत से 1,160 मेगावाट बिजली का आयात कर रहा है। इसे पश्चिम बंगाल के बेरहामपुर से कुश्तिया के भेरमारा के माध्यम से एक हजार मेगावाट और त्रिपुरा में सूर्यमोनी से कोमिला डेली के माध्यम से 160 मेगावाट बिजली प्राप्त हो रही है। भारत एकमात्र ऐसा देश है जिसके साथ बांग्लादेश का सीमापार विद्युत व्‍यापार है।

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति