Monday, July 15, 2024
spot_img

सीएम योगी की भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति, आयुष कॉलेजों में प्रवेश अनियमितता की जांच सीबीआई को

67 / 100

सीएम योगी की भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति

आयुष कॉलेजों में प्रवेश अनियमितता की जांच सीबीआई को

कार्यवाहक आयुर्वेद निदेशक प्रो डॉ एसएन सिंह, प्रभारी अधिकारी उमाकान्त यादव निलम्बित

यूनानी निदेशालय के प्रभारी डॉ0 मोहम्मद वसीम और शिक्षण होम्योपैथी निदेशालय के कार्यवाहक संयुक्त निदेशक प्रो0 विजय पुष्कर के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही

लखनऊ । सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के क्रम में राज्य सरकार ने वर्ष 2021 में आयुष कॉलेजों में प्रवेश में हुई अनियमितता की जांच सीबीआई से कराने की संस्तुति भारत सरकार से कर दी है।

CBI जांच की बात सुनते ही संदिग्धों में हड़कंप
इस धांधली की जांच सीबीआई से कराए जाने की सिफारिश की खबर फैलते ही, संदिग्धों में हड़कंप मच गया है. सब एक दूसरे की ओर ताक रहे हैं कि न मालूम अब सीबीआई जांच की आंच की चपेट में कौन कौन आएगा? सोमवार देर रात यह जानकारी यूपी राज्य सरकार के प्रवक्ता ने दी. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशों के अनुपालन में ही, प्रो. डॉ. एसएन सिंह, कार्यवाहक निदेशक आयुर्वेद सेवाएं-सदस्य सचिव काउन्सिलिंग मूल पद प्रिसिंपल और अधीक्षक को सस्पेंड किया गया है, ताकि वे अपने खिलाफ होने वाली आगे की जांच को प्रभावित करने की कोशिश न कर सकें.
सीएम योगी के निर्देशों के अनुपालन में प्रो डॉ एसएन सिंह, कार्यवाहक निदेशक आयुर्वेद सेवाएं-सदस्य सचिव काउन्सिलिंग मूल पद प्रिसिंपल और अधीक्षक तथा श्री उमाकान्त यादव, प्रभारी अधिकारी शिक्षा निदेशालय, आयुर्वेद सेवाएं मूल पद प्रोफसर राजकीय आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज, लखनऊ को निलम्बित कर दिया गया है। डॉ0 मोहम्मद वसीम, प्रभारी अधिकारी यूनानी निदेशालय तथा प्रो0 विजय पुष्कर, कार्यवाहक संयुक्त निदेशक शिक्षण होम्योपैथी निदेशालय के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही परिचालित कर दी गयी है।

उत्तर प्रदेश के आयुष कॉलेजों में प्रवेश में हुई धांधला का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. इस मामले में राज्य केसीएम योगी आदित्य़नाथ ने घोटाले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश कर दी है. इस आदेश से आरोपियों में खलबली मच गई है. इस आदेश/सिफारिश के साथ ही राज्य सरकार ने दो आला अफसरों को सस्पेंड कर दिया है, जबकि दो अन्य के आला-अफसरान के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं. जिन दो अधिकारियों को सस्पेंड किए गए हैं उनका नाम प्रो. डॉ. एसएन सिंह और उमाकांत यादव है.प्रो. डॉ. एस एन सिंह इस वक्त कार्यवाहक निदेशक आयुर्वेद सेवाएं-सदस्य सचिव काउन्सिलिंग भी हैं. उनका मूल पद प्रिसिंपल और अधीक्षक का है. जबकि निलंबित किए गए दूसरे आला-अफसर उमाकान्त यादव, प्रभारी अधिकारी शिक्षा निदेशालय, आयुर्वेद सेवाएं हैं. हालांकि उनका भी मूल पद प्रोफेसर राजकीय आयुर्वेद मेडिकल कॉलेज, लखनऊ है. घटना की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश सहित यह तमाम एक्शन, राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों पर लिए-किए गए हैं. यह मामला बीते साल आयुष कॉलेजों में प्रवेश में हुई अनियमितता से संबंधित हैं.

ALSO READ

प्रभु राम के आशीर्वाद से हो रहे त्रेता की अयोध्या के दर्शनः पीएम मोदी

: https://www.ayodhyalive.com/anganwadi-center…ment-of-children/ ‎

15 लाख 76 हजार दीपों का प्रज्जवलन कर बना वल्र्ड रिकार्ड

आयुर्वेद कैसे काम करता है – क्या है तीन दोष ?

दुनिया के इन देशों में भी भारत की तरह मनाई जाती है दीपावली

 https://www.ayodhyalive.com/एक्शन-मोड-में-सीएम-योगी-18-सौ

सम्पूर्ण भोजन के साथ अपने बच्चे का पूर्ण विकास सुनिश्चित करें : आचार्य डॉक्टर आरपी पांडे 

वजन कम करने में कारगर हे ये आयुर्वेदिक औषधियाँ :आचार्य डॉक्टर आरपी पांडे

सोने से पहले पैरों की मालिश करेंगे तो होंगें ये लाभ: आचार्य डॉक्टर आरपी पांडे

कुलपति अवध विश्वविद्यालय के कथित आदेश के खिलाफ मुखर हुआ एडेड डिग्री कालेज स्ववित्तपोषित शिक्षक संघ

अयोध्या में श्री राम मंदिर तक जाने वाली सड़क चौड़ीकरण के लिए मकानों और दुकानों का ध्वस्तीकरण शुरू

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राम जन्मभूमि परिसर के विकास की योजनाओं में किया बड़ा बदलाव

पत्रकार को धमकी देना पुलिस पुत्र को पड़ा महंगा

बीएचयू : शिक्षा के अंतरराष्ट्रीयकरण के लिए संस्थानों को आकांक्षी होने के साथ साथ स्वयं को करना होगा तैयार

राष्ट्रीय शिक्षा नीति का उद्देश्य शिक्षा को 21वीं सदी के आधुनिक विचारों से जोड़ना : PM मोदी

प्रवेश सम्बधित समस्त जानकारी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

घर की छत पर सोलर पैनल लगाने के लिए मिल रही सब्सिडी, बिजली बिल का झंझट खत्म

बीएचयू : कालाजार को खत्म करने के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में महत्वपूर्ण खोज

नेपाल के लोगों का मातृत्व डीएनए भारत और तिब्बत के साथ सम्बंधितः सीसीएमबी व बीएचयू का संयुक्त शोध

JOIN

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति