अयोध्यालाइव

मठों, मंदिरों व धर्माथ संस्थाओं से न लिया जाय व्यवसायिक कर -मुख्यमंत्री

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
अयोध्या का मुख्यमंत्री जी द्वारा दूसरे कार्यकाल में शपथ लेने के बाद अयोध्या का पहला भ्रमण

Listen

Advertisements
ADVERTISEMENT

मठों, मंदिरों व धर्माथ संस्थाओं से न लिया जाय व्यवसायिक कर -मुख्यमंत्री

दी कोविड के बाद पडऩे वाले मेले को भव्य और दिव्य बनाने की हिदायत  

अयोध्या। प्रदेश की सत्ता पर दुबारा आसीन होने के बाद पहली बार रामनगरी अयोध्या के दौरे पर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हनुमानगढ़ी और रामलला का दर्शनपूजन किया, मंदिर निर्माण को देखा और संत-धर्माचार्यों से मुलाकात के बाद चैत्र रामनवमी मेले की तैयारियों की समीक्षा की।  मुख्यमंत्री ने हिदायत दी है कि मठ-मंदिरो, धर्मशालाओ एवं धमार्थ से जुड़ी संस्थाओ से व्यवसायिक दर से गृहकर, जलकर न लिया जाय और इसके लिये यदि आवश्यक हो तो नगर निगम इसका प्रस्ताव बनाकर नगर विकास विभाग से शीघ्र अनुमोदन प्राप्त कर ले।
    ये संस्थाएं धमार्थ एवं जन सेवा का कार्य करती है,इनसे टोकन मनी के रूप में सहयोग लिया जा सकता है। उन्होंने कोरोना महामारी के चलते श्री राम मंदिर भूमि पूजन के बाद पहली बार आयोजित हो रहे रामनवमी मेला को भव्यता से कराने तथा अयोध्या को विश्व मानचित्र पर लाने के लिए विशेष प्रयास का निर्देश दिया। कहा कि श्रद्धलुओं की सहूलियत के मद्देनजर शासन प्रशासन का कोई भी अधिकारी एवं वीआईपी अष्टमी एवं नवमी को अयोध्या का भ्रमण न करे। यदि करता है तो उनको प्रोटोकाल न दिया जाय। सीएम ने नव संवत् वर्ष की पूर्व संध्या पर सभी को बधाई देते हुये दी तथा सभी से भागीदारी से इस पर्व को मनाने की अपील की है।

नगरी की मर्यादा के अनुरूप हो व्यवस्थाएं 

मेला कंट्रोल रूम अंतर्राष्ट्रीय रामकथा संग्राहलय में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण प्रारम्भ हो गया है। रामनवमी के बाद भी पूरे भारत से प्रतिदिन हजारो की संख्या में श्रद्धालु आयेगें, इसे दृष्टिगत रखते हुए अयोध्या में ऐसा मनमोहक वातावरण सृजित करे,नगरी को ऐसे सजाये,जो श्रद्धालु की परिकल्पना के अनुरूप हो और प्रवेश करते ही श्रद्धालुओ को पूरा वातावरण राममय लगे तथा वापसी में अपने गृह जनपद एक अच्छा भाव लेकर जाएं। अयोध्या को दुनिया का सबसे सुंदरतम शहर बनाने के लिये संत-महात्माओं, जनप्रतिनिधियों का सुझाव और सहयोग लेकर विकास कार्यक्रमों को आगे बढ़ायें।
चुनाव पूर्व की प्रस्तावित विकास योजनाओ को तत्काल शुरू कराये और डीपीआर न होने की स्थिति में बनवा लें तथा किसी भी स्तर पर स्वीकृत हेतु पेन्डिंग पत्रावली पर तत्काल कार्यवाही के साथ सभी परियोजनाओ को निर्धारित अवधि में पूर्ण कराया जाय। पूरे अयोध्या परिक्षेत्र में सुरक्षा का बेहतर मॉडल बनाकर स्थाई रूप से लागू किया जाए तथा पूरे क्षेत्र को सीसीटीवी से आच्छादित किया जाए। अबाध विद्युत आपूर्ति में यदि कोई परेशानी हो तो शासन के उच्चाधिकारियों के साथ सीएम कार्यालय को अवगत करायें तथा मेला के दौरान 24 घंटे शुद्व पेयजल एवं विद्युत की आपूर्ति सुनिश्चित की जाय। स्वच्छता के लिये थर्माकोल व प्लास्टिक गिलास के बजाय शीशे,स्टील एवं मिट्टी के गिलास को बढ़ावा दिया जय और जगह जगह डेस्टबिन रखे जाये।
राम मंदिर निर्माण स्थल की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता हो, सभी मार्गो एवं स्थलों की झाडिय़ों की सफाई कराई जाय तथा विशेष सतर्कता बरतते हुये सायंकाल की सरयू आरती को भव्यता दिया जाय। उन्होंने कहा कि मेले के पूर्व अयोध्या की आन्तरिक गलियो व सडको को संबंधित विभाग ठीक करा लें, श्रद्धालुओ को सुविधा और सहूलियत को देखकर बेहतर ढंग से व्यवस्था की जाए। हिदायत दी कि किसी मार्ग को बंद न किया जाय और नेशनल हाइवे पर श्रद्धालुओं के वाहनो के लिये साइड में पार्किंग की व्यवस्था कराई जाय ताकि हाईवे पर जाम की स्थिति उत्पन्न न हो। कनात लगातार शौचालय कदापि न बनाये बल्कि पास के जनपदों के नगर निगम, नगर पालिका से मोबाइल शौचालय मंगा लें औरदिन में 2-3 बार उसकी साफ-सफाई करायें तथा मेले दौरान एन्टी लार्वा, एन्टी रोमियो स्क्वायड को भी सक्रिय करें।
 बैठक में   विधायकगण वेद प्रकाश गुप्ता, अमित सिंह चौहान, रामचन्द्र यादव, मेयर ऋषिकेश उपाध्याय,जिला अध्यक्ष संजीव सिंह, महानगर अध्यक्ष अभिषेक मिश्र ,मंडलायुक्त नवदीप रिणवा,आईजी केपी सिंह, डीएम नितीश कुमार, एसएसपी शैलेश पांडेय, नगर आयुक्त विशाल सिंह, नगर विकास, पुलिस, राजस्व, ग्राम्य विकास, पर्यटन, सिंचाई, लोक निर्माण विभाग, सूचना, उद्यान, संस्कृति, विद्युत, पंचायत,स्वास्थ्य,रेलवे, अग्निशमन, डेयरी आदि  विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

रामकोट परिक्रमा को दिखाई हरी  झंडी,निर्माण प्रगति भी देखी 

-एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे सीएम ने प्रसिद्ध पीठ हनुमानगढ़ी में  पूजन अर्चन और मंगला आरती की।
गद्दी नशीन महंत प्रेमदास, महंत धर्मदास, निर्वाणी अखाड़ा के महासचिव महंत गौरी दास, पुजारी रमेश दास, संत राजू दास आदि ने माल्यार्पण और अंग वस्त्र देकर स्वागत किया।रामजन्मभूमि परिसर पहुंचे सीएम का श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, सदस्य डॉ अनिल मिश्रा आदि ने स्वागत किया और दर्शन-पूजन के बाद उन्होंने राममंदिर निर्माण कार्य तथा रामनवमी की तैयारियों का जायजा लिया। वहीं पूर्व सांसद विनय कटियार के नेतृत्व में नव संवत्सर की पूर्व संध्या पर पारंपरिक रूप से होने वाली रामकोट की परिक्रमा में शामिल संत-महंतों का माल्यार्पण कर स्वागत किया और परिक्रमा को हरी झंडी दिखाई। इसके पूर्व उन्होंने छोटी छावनी पहुंच श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष मणिराम दास जी की छावनी के महंत नृत्य गोपाल दास,बड़े भक्तमाल मंदिर पहुंच के पीठाधीश्वर महंत कौशल किशोर दास से मुलाकात की एवं कुशलक्षेम जाना। यहां महंत अवधेश दास रसिक पीठाधीश्वर, महंत जनमेजय शरण सहित अन्य संत महंतों ने सीएम का स्वागत किया। मेला कंट्रोल रूम में विकास और मेला की बैठक के बाद वह हेलीकाप्टर से बलरामपुर के लिए रवाना हो गये।

अधिकारियो ने पेश किया तैयारियों और विकास कार्यों का ब्योरा 

 -मुख्यमंत्री के समक्ष अधिकारियों ने तैयारियों और विकास कार्यों का  ब्यौरा प्रस्तुत किया। बताया कि एक पखवारे से तैयारियों की नियमित समीक्षा की जा रही है।
 मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आदि अधिकारियों द्वारा विगत 15 दिनों से इसकी नियमित समीक्षा की जा रही है। श्रद्वालुओं को सुचना और मनोरंजन के लिए 500 होर्डिंग्स, दो दर्जन से ज्यादा एलईडी बैन, 7 फिक्स डिस्प्ले बोर्ड, 200 से ज्यादा सांस्कृतिक दलों की व्यवस्था की गई है। पर्यटन विभाग व मंगल दल, स्वास्थ्य विभाग, नगर निगम आदि द्वारा पेयजल की व्यवस्था, मैं आई हेल्प यू, शौचालय आदि की व्यवस्था की गई है और पूरे मेला क्षेत्र को 6 जोन, 26 सेक्टर, 67 माइक्रो सेक्टर में बाँटकर मजिस्ट्रेटों के साथ पुलिस अधिकारियों की ड्युटी लगायी गयी है।
जिलाधिकारी नितीश कुमार ने बताया कि सभी विभागों ने समयबद्व कार्य किया है। रामनवमी पर्व को लेकर अतिरिक्त इंतजाम किया जा रहा है। एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने सुरक्षा व्यवस्था,पार्किंग, रुट डाइवर्जन और संचार की जानकारी दी। आईजी केपी सिंह ने बताया कि राम जन्मभूमि सुरक्षा की स्थायी समिति की बैठककर सुरक्षा की समीक्षा की गई है। मंडलायुक्त की ओर से सभी जनपदों को पत्र भेजा गया है।
Advertisements

Related News

Leave a Reply

JOIN TELEGRAM AYODHYALIVE

Currently Playing
Coming Soon
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?
देश का सबसे प्रभावशाली प्रधानमंत्री कौन रहा है?

Our Visitor

119407
Users Today : 89
Total Users : 119407
Views Today : 123
Total views : 153965
July 2022
M T W T F S S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
Currently Playing
July 2022
M T W T F S S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031

OUR SOCIAL MEDIA

Also Read

%d bloggers like this: