Wednesday, April 17, 2024
spot_img

कुल्लू मनाली जा रहे एक ही परिवार के 11 सदस्य लापता

कुल्लू मनाली जा रहे एक ही परिवार के 11 सदस्य लापता

JOIN

अनहोनी की आशंका के चलते गांव में पसरा सन्नाटा

हिमाचल प्रदेश के ब्यास नदी में आई बाढ़ एवं भूस्खलन के चलते बस सहित लापता होने की परिवारीजन जता रहे आशंका

मिल्कीपुर(अयोध्या)।कुमारगंज थाना क्षेत्र स्थित पिठला गांव से हिमाचल प्रदेश के कुल्लू मनाली के लिए निकले एक ही परिवार के 11 लोग अचानक लापता हो गए हैं। उनके सगे संबंधी अब उनकी खोजबीन में जुट गए हैं हालांकि किसी अनहोनी की आशंका से घबराए परिवारी जनों ने कुमारगंज पुलिस को मामले की जानकारी देते हुए कार्यवाही की गुहार की है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक पिठला गांव निवासी 62 वर्षीय अब्दुल मजीद अपने दामाद रहबर एवं अपने पूरे परिवार सहित
हिमाचल प्रदेश के कुल्लू मनाली में रहकर मेहनत मजदूरी करके जीवन का गुजर-बसर कर रहे थे।

इधर बीते जून माह में अब्दुल मजीद अपने परिवार के साथ अपने गांव पिठला आ गए थे। बीते 8 जुलाई को अब्दुल मजीद अपने परिवार के साथ कुल्लू मनाली के लिए निकले थे। वह 9 जुलाई को चंडीगढ़ बस अड्डे से 2 बजकर 40 मिनट पर रोडवेज की बस से कुल्लू मनाली के लिए निकले थे। मनाली में मौजूद मजीद का दामाद रहबर अपने साले ससुर और साली के मोबाइल पर बराबर संपर्क में था। रहबर ने मजीद के परिवारी जनों को बताया कि हमारी साली करीना से कई बार बात हुई थी और उसने बताया था कि 9/10 जुलाई की रात 12 बजे तक हम लोग मनाली बस अड्डा पहुंच जाएंगे, वही पर मिलना।

मोबाइल पर हुई वार्ता के क्रम में रहे बर मनाली बस अड्डे पर अपने ससुराली जनों का इंतजार करता रहा किंतु वह बस अड्डे तक नहीं पहुंचे। जिसके बाद रात्रि 3 बजे के लगभग रहे बरनी अपने ससुर के साथ मौजूद उनके बेटों एवं अन्य लोगों के पास मौजूद 5 मोबाइल फोन नंबरों पर संपर्क साधा लेकिन सब के सब मोबाइल बंद मिले। इसके बाद रहबर की बेचैनी बढ़ी और वह मनाली से गाड़ी लेकर खोज में निकल पड़ा जहां मंडी थाने से आगे उसे पुलिसकर्मियों ने रोक दिया किंतु वह जिस स्थान पर करीना ने फोन पर बताया था कि हम लोग बिलासपुर से आगे पहुंच चुके हैं वहां तक पैदल ही पहुंचा और आसपास लोगों से पूछताछ की।

आसपास मौजूद लोगों ने बताया कि रात में व्यास नदी में बाढ़ आ गई थी और बाढ़ के पानी के चलते सड़क बह गई। सड़क पर खड़ी कई बसें और छोटे वाहन भी पानी के बहाव में बह गए हैं। इसके बाद वह सीधे मंडी थाने पहुंचा और हिमाचल प्रदेश पुलिस को सूचना दी जिस पर स्थानीय पुलिस ने उसे कार्यवाही का भरोसा दिलाया और कहा कि खोजबीन की जाएगी। अब्दुल मजीद के दामाद रहबर ने समूचे घटनाक्रम की जानकारी अब्दुल मजीद के पैतृक गांव पिठला में निवासरत उसके अन्य परिवारी जनों को। सूचना मिलते ही गांव में सन्नाटा पसर गया और चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया।

जानकारी के बाद अब्दुल मजीद के चचेरे भाई जुगल पुत्र प्यारे बसपा नेता भगवती सिंह के साथ कुमारगंज थाने पहुंचे और उन्होंने कुमारगंज पुलिस को घटना की सूचना दी। जिस पर प्रभारी निरीक्षक संजीव कुमार सिंह ने हिमाचल प्रदेश की पुलिस से संपर्क करते हुए मामले में कार्यवाही का भरोसा दिलाया है।

एक ही परिवार के 11 लापता लोगों में अब्दुल मजीद पुत्र सद्दीक उम्र 62 वर्ष तथा नाजिमा पत्नी अब्दुल मजीद उम्र 60 वर्ष, बाहर पुत्र अब्दुल मजीद उम्र 42 वर्ष, परवीन पत्नी बहार उम्र 40 वर्ष इश्तिहार पुत्र अब्दुल मजीद उम्र 21 वर्ष, ओमाईसा सबना पत्नी इश्तहार 19 वर्ष, करीना पुत्री अब्दुल मजीद उम्र 18 वर्ष, वारिस अली पुत्र बहार उम्र 10 वर्ष, मौसम पुत्र बहार उम्र 6 वर्ष, अलमीरा पुत्री बहार 4 वर्ष एवं अब्दुल मजीद के रिश्तेदार एजाज अहमद निवासी लालगंज चौराहा कासिम अली का पुरवा तहसील मुसाफिरखाना जनपद अमेठी शामिल हैं।

JOIN

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

For You
- FOLLOW OUR GOOGLE NEWS FEDS -spot_img
डा राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विश्वविद्यालय अयोध्या , परीक्षा समय सारणी
spot_img

क्या राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द होने से कांग्रेस को फायदा हो सकता है?

View Results

Loading ... Loading ...
Latest news
प्रभु श्रीरामलला सरकार के शुभ श्रृंगार के अलौकिक दर्शन का लाभ उठाएं राम कथा सुखदाई साधों, राम कथा सुखदाई……. दीपोत्सव 2022 श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने फोटो के साथ बताई राम मंदिर निर्माण की स्थिति